AYUSH Ayurveda Education


प्रदेश में भारतीय चिकित्सा पद्धति के निष्णात स्नातकों को शिक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराने की दृष्टि से लखनऊ, पीलीभीत, झांसी, बरेली, मुजफ्फरनगर, अर्तरा - बांदा हडिया - इलाहाबाद तथा वाराणसी में 8 राजकीय आयुर्वेदिक एवं लखनऊ तथा इलाहाबाद में कुल 320 आयुर्वेदिक स्नातकों को प्रशिक्षित करने के लिए प्रतिवर्ष NEET के माध्यम से प्रवेश दिया जाता है।


आयुर्वेदिक कॉलेजों में प्रवेश क्षमता एवं कॉलेज से संबद्ध चिकित्सालयों में शैय्याओं का विवरण –

क्र0 सं0 कॉलेज का नाम प्रवेश क्षमता कॉलेज से संबद्ध अस्पतालों में शैय्याओं की संख्या
1. राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज, लखनऊ 50 220
2. ललित हरि राज0 आयु0 कॉलेज, पीलीभीत 50 100
3. बुंदेलखंड राज0 आयु0 कॉलेज, झांसी 40 100
4. एस0आर0एम राज0 आयु0 कॉलेज, बरेली 40 100
5. एस0 के0 डी0 राज0 आयु0 कॉलेज, मु0 नगर 30 100
6. राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज, अतर्रा – बांदा 40 100
7. लाल बहादुर शास्त्री राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज, हंडिया – इलाहाबाद 30 100
7. राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज, वाराणसी 40 110

यह संस्था प्रदेश में आयुर्वेदिक पद्धति से चिकित्सा व्यवसाय कर रहे वैद्दों / हकीम के पंजीकरण की एकमात्र संस्था है, जो उत्तर प्रदेश इण्डियन मेडिसिन एक्ट 1939 के प्राविधानों के अधीन इनके पंजीकरण का कार्य करती है ।

photo